खेल

सूजा था पैर, हो रही थी उल्टियां, फिर भी नेहरा ने वर्ल्ड कप में किया था ये कमाल

सूजा था पैर, हो रही थी उल्टियां, फिर भी नेहरा ने वर्ल्ड कप में किया था ये कमाल

lt;bgt;स्पोर्ट्स डेस्क. lt;/bgt;वर्तमानlt;bgt; lt;/bgt;टीम इंडिया के सबसे सीनियर बॉलर आशीष नेहरा ने अपने रिटायरमेंट की तारीख का एलान कर दिया है। वे 1 नवंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ दिल्ली में अपने करियर का आखिरी इंटरनेशनल मैच खेलेंगे। नेहरा ने 18 साल पहले टीम के लिए डेब्यू किया था, अपने करियर के दौरान नेहरा ने दो वर्ल्ड कप भी खेले।lt;bgt; सूजे हुए पैर के साथ भी की थी बॉलिंग...lt;/bgt; - आशीष नेहरा ने भारत की ओर से दो वर्ल्ड कप (2003 और 2011) खेले। इनमें से 2003 में साउथ अफ्रीका में हुए वर्ल्ड कप के एक मैच में उन्होंने अपने वनडे करियर की बेस्ट परफॉर्मेंस दी थी। जो कि इस टूर्नामेंट में किसी भी इंडियन की बेस्ट परफॉर्मेंस भी है। - इंग्लैंड के खिलाफ डरबन में हुए उस मैच में उन्होंने 10 ओवरों में 23 रन देकर 6 विकेट झटके थे। इस दौरान उन्होंने दो ओवर मेडन भी डाले थे। - अपनी इस धांसू परफॉर्मेंस के दौरान नेहरा ने इंग्लैंड के कप्तान नासिर हुसैन समेत माइकल वॉन, एलेक स्टुवर्ट, पॉल कोलिंगवुड, क्रैग व्हाइट और रोनी ईरानी को आउट किया था। - इस मैच में भारत ने पहले खेलते हुए 9 विकेट पर 250 रन बनाए थे, जवाब में इंग्लैंड की पूरी टीम 45.3 ओवरों में 168 रन पर आउट हो गई थी। नेहरा की जबरदस्त परफॉर्मेंस के बाद टीम इंडिया ने ये मैच 82 रन से जीत लिया था। lt;bgt;सूजे हुए पैर और उल्टी करते हुए बनाया था रिकॉर्डlt;/bgt; - अपने करियर में नेहरा चोटों से काफी परेशान रहे। साल 2003 वर्ल्ड कप में 26 फरवरी को इंग्लैंड के खिलाफ मैच से दो दिन पहले नेहरा चोटिल हो गए थे। उनके टखने में इतनी ज्यादा सूजन आ गई थी कि वे जूता भी नहीं पहन पा रहे थे। - अगले दो दिन तक वे बर्फ की थैली लेकर पैर को सेंकते रहे, यहां तक कि टीम इंडिया जब इंडियन हाई कमीशन पहुंची थी, तो वहां पर भी नेहरा बर्फ की थैली लेकर गए थे। - मैच से एक दिन पहले भी उनकी तबीयत इतनी खराब थी कि वे पिच पर उल्टियां कर रहे थे। लेकिन फिर भी वे हर हाल में मैच खेलना चाहते थे। - टीम मैनेजमेंट चाहता था कि नेहरा का फिटनेस टेस्ट हो, ताकि इस चोट की वजह से नेहरा को कोई बड़ा नुकसान ना हो जाए, लेकिन नेहरा इस बात के लिए भी तैयार नहीं हुए। - मैच वाले दिन भी नेहरा की हालत में सुधार नहीं हुआ। उनका पैर इतना सूजा हुआ था कि वे मोजे नहीं पहन सके और बिना सॉक्स पहने ही उन्होंने जैसे-तैसे शूज पहने। - इसके बाद नेहरा ने जो किया वो इतिहास में दर्ज हो गया। उस मैच में नेहरा ने जबरदस्त परफॉर्म करते हुए 6 विकेट झटके थे। ये वर्ल्ड कप हिस्ट्री में किसी भी इंडियन बॉलर की बेस्ट परफॉर्मेंस है। - उस वक्त टीम के कप्तान रहे सौरव गांगुली ने कहा था, मैंने अपनी लाइफ में वनडे में जो सबसे बेहतर बॉलिंग देखी है, नेहरा की ये परफॉर्मेंस उन्हीं में से एक है। lt;bgt;1999 में किया था डेब्यूlt;/bgt; - आशीष नेहरा ने अपना इंटरनेशनल डेब्यू फरवरी 1999 में मो. अजहरुद्दीन की कप्तानी में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच को खेलते हुए किया था। - अपने करियर में उन्होंने 17 टेस्ट, 120 वनडे और 26 टी-20 मैच खेले हैं। उनके नाम पर टेस्ट में 44, वनडे में 157 और टी-20 में 34 विकेट दर्ज हैं। lt;bgt;आगे की स्लाइड्स में देखें, नेहरा की पर्सनल लाइफ के फोटोज और उनसे जुड़े कुछ फैक्ट्स...lt;/bgt;