खेल

धोनी-विराट नहीं इनकी वजह से स्टार बने हार्दिक पंड्या, 3 साल तक किया ऐसा

धोनी-विराट नहीं इनकी वजह से स्टार बने हार्दिक पंड्या, 3 साल तक किया ऐसा

lt;bgt;स्पोर्ट्स डेस्क. lt;/bgt;टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर बन चुके हार्दिक पंड्या आज अपना 24वां बर्थडे (11 अक्टूबर, 1993) सेलिब्रेट कर रहे हैं। वो आज टीम इंडिया के अहम खिलाड़ी बन चुके हैं। कप्तान विराट कोहली ने उन्हें टीम के लिए इम्पॉर्टेंट बताया। वहीं, पंड्या ने इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू एमएस धोनी की कप्तानी में 2016 में किया था। लेकिन धोनी-विराट से बहुत पहले ही जिस खिलाड़ी ने उनकी प्रतिभा को पहचान लिया था वो हैं पूर्व क्रिकेटर किरण मोरे। lt;bgt;पहले कर दिया था पंड्या भाइयों को मना....lt;/bgt; - 7 साल के क्रुणाल पंड्या और 5 साल के हार्दिक पंड्या को कभी उनके पिता हिमांशु बड़ौदा में पूर्व इंडियन क्रिकेटर किरण मोरे की क्रिकेट एकेडमी में लेकर गए थे। - तब मोरे ने ये कहकर दोनों को कोचिंग देने से मना कर दिया था कि इनकी उम्र बहुत कम है। कोचिंग में एडमिशन के लिए कम से कम उम्र 12 साल होनी चाहिए। - हालांकि, हिमांशु पंड्या के बहुत कहने पर मोरे को आखिरकार दोनों को एडमिशन देना पड़ा और इसके बाद से पंड्या ब्रदर्स लगातार आगे बढ़ते रहे। - किरण मोरे ने एक इंटरव्यू में बताया था कि जब उन्होंने पहली बार इतनी कम उम्र में इन दोनों भाइयों को क्रिकेट खेलते देखा तो महसूस किया कि टैलेंट की कोई उम्र नहीं होती। उस दिन से एकेडमी के कुछ नियम भी बदल गए थे। lt;bgt;3 साल तक नहीं ली थी फीसlt;/bgt; - हार्दिक पंड्या के टैलेंट को देखते हुए किरण मोरे ने उनसे शुरुआती तीन साल तक कोई फीस नहीं ली थी। हार्दिक गजब की बैटिंग करते थे। किरण मोरे के अनुसार, बॉल सॉलिड भागता था उसके बैट से।; फास्ट बॉलर बनने से पहले हार्दिक लेग स्पिनर थे। उनसे ये बदलाव भी किरण मोरे ही लाए थे। lt;bgt;ऐसे स्पिनर से फास्ट बॉलर बने हार्दिकlt;/bgt; - एक दिन किरण मोरे की एकेडमी में एक लोकल मैच के पहले एक फास्ट बॉलर कम था। मोरे ने हार्दिक को ये जिम्मेदारी दी। - हार्दिक भी बिना देर किए फास्ट बॉलिंग के लिए तैयार हो गए और मैच में सभी को हैरान कर दिया। - उस लोकल मैच में उन्होंने 7 विकेट झटक लिए थे। इसके बाद से हार्दिक स्पिन छोड़ फास्ट बॉलिंग करने लगे। lt;bgt;आगे की स्लाइड्स में जानें हार्दिक पंड्या के स्टार क्रिकेटर बनने से पहले की लाइफ के फैक्ट्स, कितनी मुश्किलों से इस मुकाम तक पहुंचे...lt;/bgt;