जरा हटके

‘खाया पिया कुछ नहीं और गिलास तोड़ा बारह आना’, शायद ऐसे ही लोगों के लिए कहा गया

‘खाया पिया कुछ नहीं और गिलास तोड़ा बारह आना’, शायद ऐसे ही लोगों के लिए कहा गया


रियलिटी शो में कंटेस्टेंट को क्या नहीं करना पड़ता है। कभी जंगल में भूखा रहना पड़ता है तो कभी ऐसे-ऐसे जानवरों को मारकर खाना पड़ता है कि पूछिए ही मत। हालांकि जब कोई कंटेस्टेंट इस तरह के शोज में हिस्सा लेता है तो वो चाहता है कि इतनी मेहनत के लिए टीवी शोज में ढंग की फुटेज तो मिल ही जाए, लेकिन कुछ कंटेस्टेंट के साथ ऐसी चोट हुई है कि वो अब ऐसे रियलिटी शोज में हिस्सा लेने से भी तौबा करेंगे। 

ब्रिटेन के चैनल 4 पर एक शो आता है। स्कॉटलैंड के जंगल में पूरा एक साल बिताने के बाद जब कुछ कंटेस्टेंट मार्च में बाहर आए, तो बेचारों की उम्मीदों पर घड़ों पानी फिर गया। हुआ कुछ यूं कि जब वो बाहर आए तो उन्हें पता चला कि उनकी हाड़ तोड़ मेहनत को किसी ने टीवी पर देखा ही नहीं। जी हां, ये शो है ‘ईडन’। 

इस शो का पहला एपिसोड 18 जुलाई 2016 को टेलिकास्ट हुआ। इस शो को चौथे एपिसोड तक आते-आते बंद कर दिया गया। इसका कारण था शो के दर्शकों का चौथे शो तक आधे रह जाना। बस फिर क्या था 8 अगस्त 2016 को आए इसके चौथे एपिसोड के बाद इसका टेलिकास्ट रोक दिया गया। 

शो में अलग-अलग पेशे से जुड़े 23 कंटेस्टेंट्स को शो में लिया गया। सभी लोगों को स्कॉटलैंड के एक दूरदराज के बीहड़ में छोड़ा गया जहां पर 600 एकड़ के जंगल के तीन ओर 6 फुट ऊंची बाड़ थी और एक तरफ समंदर। इस शो के लिए जरूरत भर का सामान बाहर से दिया गया और बाकी का सामान कंटेस्टेंट्स को ही जुटाना था। शो का मकसद ये दिखाना था कि आपसी तालमेल कैसे एक समाज की शक्ल ले लेता है। 
 
ज्यादातर लोग बाहर आ गए लेकिन आखिर में बचे 10 लोग। यही 10 वे लोग थे जिनकी किस्मत सबसे खराब थी। बाहर आए तो पता चला कि शो को ऑफ एयर हुए तो कई महीनों हो चुके हैं। हालांकि अब चैनल से जुड़े लोगेां का कहना है कि बचे हुए शोज को बाद में कभी टेलिकास्ट किया जाएगा। 

 

देखिए ईडन का ट्रेलर

 


Tags:

  • Reality TV show,
  • channel 9,
  • Eden,
  • Eden reality show,
  • Nobody was watching,
  • रियलिटी शो,
  • चैनल 4,
  • ईडन,
  • ,

कमेंट