देश

हनीप्रीत को लेकर राजस्थान पहुंची हरियाणा पुलिस, यहां बिताए थे फरारी के 3 दिन

हनीप्रीत को लेकर राजस्थान पहुंची हरियाणा पुलिस, यहां बिताए थे फरारी के 3 दिन

lt;bgt;श्रीगंगानगर.lt;/bgt; गुरमीत राम रहीम की राजदार हनीप्रीत को हरियाणा पुलिस बुधवार दोपहर बाद राजस्थान के श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ लेकर पहुंची। फरारी के दौरान हनीप्रीत दोनों जिलों में जहां-जहां रही, उन ठिकानों पर इस बात को कन्फर्म किया गया। पुलिस ने देर रात तक राम रहीम के बर्थ प्लेस गुरुसर मोडिया में कार्रवाई की। lt;bgt;गुरमीत राम रहीम के पुश्तैनी घर भी गई पुलिस...lt;/bgt; - जानकारी के मुताबिक, पंचकूला पुलिस 7 गाड़ियों में हथियारबंद फोर्स के साथ हनीप्रीत को लेकर श्रीगंगानगर के गांव लाधुवाला के पास गिलों की ढाणी पहुंची। फरारी के दौरान हनीप्रीत यहां पर 2 दिन रुकी थी। बताया जा रहा है कि जिस ढाणी में वह ठहरी, वहां पर राम रहीम के रिश्तेदार रहते हैं। - इस जगह पर जांच करने के बाद पुलिस टीम हनीप्रीत को लेकर शाम करीब पौने सात बजे हनुमानगढ़ के गांव गुरुसर मोडिया पहुंची। यहां पर गुरमीत राम रहीम का पुश्तैनी मकान है। टीम पहले सीधे वहां पर गई। वहां से डेरा सच्चा सौदा के सीनियर सेकेंडरी गर्ल्स स्कूल के हॉस्टल और हॉस्पिटल पहुंची। हनीप्रीत यहां पर तीन दिन तक रुकी थी। - यहां से निकलकर ही वह गिलों की ढाणी में ठहरी थी। हरियाणा के पंचकूला एएसपी मुकेश मल्होत्रा टीम के साथ राजस्थान आए हुए थे। हरियाणा पुलिस अपनी कार्रवाई पूरी कर देर रात पंचकूला लौट गई। lt;bgt;लोगों को पता चला तो जुट गई भीड़lt;/bgt; - लाधुवाला गांव के पास ही जैसे ही हरियाणा पुलिस का काफिला पहुंचा, यह खबर तुरंत पूरे इलाके में फैल गई। - पूरा गांव हनीप्रीत को देखने के लिए गिलों की ढाणी के पास जुट गया। - यहां पर कार्रवाई करने के बाद कड़ी सिक्युरिटी के बीच हनीप्रीत को लेकर पुलिस वहां से रवाना हुई। - इस दौरान हनीप्रीत को पुलिस ने चेहरा ढंककर महिला पुलिसकर्मियों के बीच बैठा रखा था। lt;bgt;फरारी के दौरान भी यहां पहुंची थी हरियाणा पुलिसlt;/bgt; - हनीप्रीत की फरारी के दौरान उसकी तलाश में हरियाणा पुलिस और एसआईटी की टीम 23 सितंबर को भी गुरुसर मोडिया पहुंची थी। - पुलिस काे शक था कि हनीप्रीत यहां छिपी हो सकती है। इस कार्रवाई में पुलिस ने उसके संदिग्ध ठिकानों को खंगाला था, लेकिन उस वक्त पुलिस को खाली हाथ ही लौटना पड़ा था। - हालांकि, एसआईटी की यहां सवा पांच घंटे सर्च और 30 से ज्यादा लोगों से पूछताछ में ये बात तभी पक्की हो गई थी कि हनीप्रीत ने वहां फरारी के दौरान 3 दिन छिपकर गुजारे थे। lt;bgt;हनीप्रीत ने कबूली पैसे बांटने और पंचकूला हिंसा में हाथ होने की बातlt;/bgt; - वहीं, चंडीगढ़ में रिमांड के दौरान हनीप्रीत ने बुधवार को कबूल किया कि पंचकूला में हिंसा उसके इशारे पर हुई। एसआईटी के मुताबिक, हनीप्रीत ने बताया कि हिंसा के लिए उसने सवा करोड़ रुपए भी बांटे थे। - बता दें, कि रिमांड के बाद मंगलवार को एसआईटी कोर्ट ने हनीप्रीत और सुखदीप कौर को पंचकूला कोर्ट में पेश किया था। इससे पहले हनीप्रीत को 4 अक्टूबर को कोर्ट में पेश किया गया था। - इस दौरान हनीप्रीत ने रोते हुए कहा था कि मैं बेगुनाह हूं। हनीप्रीत पर 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिंसा की साजिश रचने का आरोप है। - पंचकूला हिंसा में 36 लोग मारे गए थे और सिरसा में भी 5 की मौत हुई थी। हनीप्रीत देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार है और रिमांड पर चल रही है।