करियर

एक देश, एक टेस्ट:-सिंगल इंजीनियरिंग टेस्ट को लेकर अधिसूचना जारी

एक देश, एक टेस्ट:-सिंगल इंजीनियरिंग टेस्ट को लेकर अधिसूचना जारी

नई दिल्ली. 
जल्द ही देश के सभी इंजीनियरिंग और आर्किटेक्चर कॉलेज के लिए अब एक ही एंट्रेंस टेस्ट होगा। केंद्र सरकार ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इंजीनियरिंग के लिए एंट्रेंस टेस्ट उसी तर्ज पर होंगे, जैसे मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए नीट यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट होते हैं। मंत्रालय के उच्चपदस्थ सूत्रों ने बताया कि एक टेस्ट होने से छात्रों को काफी राहत मिलेगी, परीक्षा को लेकर तनाव कम होगा और उनके समय की भी बचत होगी। 
 
14 मार्च को जारी हुआ रेगुलेशन
देश में इंजीनियरिंग कॉलेजों को मान्यता देने वाली अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने इस बाबत बीते 14 मार्च को रेगुलेशन जारी किया था। 
 
इसके बाद केंद्र के स्तर पर संचालित होने वाले भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) द्वारा आयोजित की जाने वाली जेईई की परीक्षा और राज्यों की ओर से आयोजित की जाने वाली प्रवेश परीक्षा (सीईटी) के अब कोई मायने नहीं रह जाएंगे। बल्कि केवल राष्ट्रीय स्तर की एक प्रवेश परीक्षा होगी, जिसके जरिए छात्र इंजीनियरिंग के कोर्स में दाखिला ले सकेंगे। 
 
नीट की तर्ज पर होगी यह परीक्षा 
मंत्रालय के  मुताबिक इंजीनियरिंग के लिए एकल प्रवेश परीक्षा को अगले साल 2018 के शैक्षणिक सत्र से लागू किया जाएगा। क्योंकि अभी कई राज्यों द्वारा 2017 की प्रवेश परीक्षा की तैयारी (रजिस्ट्रेशन प्रोसेस) शुरु की जा चुकी है। 
 


Tags:

  • one nation one test,
  • single engineering test,
  • SET notification,

कमेंट